हंगरियन ओपन के फाइनल में पहुंची शरत कमल और साथियान गणानाशेखरन की जोड़ी 

शीर्ष वरियता प्राप्त अपने प्रतिद्वंदियों को हराकर इस जोड़ी ने खिताब जीतने की भारत की उम्मीदों को बरकरार रखा है।

शुक्रवार को हंगरियन ओपन में पुरुष डबल्स के मुक़ाबले में शरत कमल (Sharath Kamal) और साथियान गणानाशेखरन (Sathiyan Gnanasekaran) की सेमीफाइनल में जीत भारत के लिए एकमात्र अच्छी खबर थी। इससे पहले मनिका बत्रा और साथियान को अपने अपने सिंगल्स मैच में हार का सामना करना पड़ा, जबकि बत्रा  मिक्स डबल्स का मुक़ाबला भी हार कर प्रतियोगिता से बाहर हो गई।

इससे पहले शुक्रवार को भारतीय टेबल टेनिस जोड़ी शरत कमल और साथियान गणानाशेखरन ने अपने पुरुष डबल्स के क्वार्टर फाइनल मैच में हंगरी के नंदोर एक्सेकी (Nandor Ecseki) और एडम सुदी (Adam Szudi) को 11-8, 11-7, 11-8 से हराया था।

फिर, दोपहर में उन्होंने पुरुष डबल्स के सेमीफाइनल में हांगकांग की क्वान किट हो (Kwan Kit Ho) और चुन तिंग वोंग (Chun Ting Wong) की जोड़ी को मात दी थी।

भारतीय टेबल टेनिस जोड़ी के पहला गेम 11-7 से जीतने के बाद, ऐसा लग रहा था कि हांगकांग की जोड़ी दूसरा गेम अपने नाम करेगी। हालांकि, उन्होंने अपना गेम प्वाइंट गंवा दिया लेकिन भारतीय जोड़ी ने बिना समय गंवाए दो अंकों की बढ़त के साथ ये गेम भी 12-10 से अपने नाम कर लिया।

हांगकांग की अनुभवी जोड़ी को अगले दो मैचों में दोबारा ऐसी समस्या नहीं आई और उन्होंने 11-4, 11-4 से दोनों गेम में जीत हासिल की, लेकिन शरथ कमल और साथियान गणानाशेखरन की जोड़ी ने अंतिम सेट 11-9 से जीत लिया।

मनिका बत्रा क्वार्टर-फाइनल में जगह बनाने में नाकाम

दुनिया की 11वें नंबर की खिलाड़ी मिउ हिरानो राउंड ऑफ 16 के इस मुक़ाबले में 67वीं रैंकिंग वाली मनिका बत्रा के खिलाफ फेवरेट मानी जा रही थीं। आखिरी दो मुक़ाबलों में जब भी ये दोनों खिलाड़ी आमने सामने हुई हैं, हार दोनों बार मनिका बत्रा की हुई है और इस बार भी ऐसा ही हुआ।

2018 राष्ट्रमंडल खेलों के कांस्य पदक विजेता ने शुरूआत से ही अपनी लय में वापस आने के लिए संघर्ष किया। गुरुवार को जिस लय में मनिका नज़र आई थी उस लय से वो आज बिल्कुल अलग नज़र आ रही थी और पहला गेम 9-11 से हार गईं।

दूसरे गेम में मनिका बत्रा लगातर गलतियां कर रही थीं, उनका ज्यादातर रिटर्न नेट पर जा रहा था और इस गेम में वो सिर्फ एक अंक अर्जित कर सकीं। इस तरह वो दूसरा गेम 1-11 से हार गईं।

अगले दोनों गेम में मनिका बत्रा ने वापसी की कोशिश तो कि लेकिन हीरानो के क्रॉस-टेबल शॉट्स का जवाब नहीं दे पाई और 7-11, 7-11 से हारकर महिलाओं की सिंगल्स प्रतियोगिता से बाहर हो गईं।

साथियान गणानाशेखरन की सिंगल्स में उम्मीद खत्म

साथियान गणानाशेखरन की जो पुरुष डबल्स के फाइनल में जगह बनाने का जश्न था वो जल्दी ही फीका पड़ गया जब वो पुरुषों के सिंगल्स प्रतियोगिता से बाहर हो गए।

गुरुवार को राउंड ऑफ 16 में अपनी जगह बनाने के लिए सीधे गेमों में जीत का आनंद लेने के बाद, उन्हें दुनिया के 5वें नंबर के खिलाड़ी तोमोकाज़ु हरिमोटो से सीधे गेमों में हार का सामना करना पड़ा।

इस मैच में एक समय ऐसा भी था जब हरिमोटो सात अंकों की बढ़त बनाए हुए थे, जापानी पैडलर ने सथियान गणानाशेखरन की चुनौती को 11-8, 11-5, 11-4, 11-8 से ध्वस्त करते हुए क्वार्टर फाइनल में प्रवेश किया।

मनिका बत्रा हंगरियन ओपन से हारकर हुईं बाहर

दिन के शुरुआत में ही महिलाओं की सिंगल्स स्पर्धा में हार झेलने वाली मनिका बत्रा के पास शरत कमल के साथ मिलकर मिक्स डबल्स में राउंड ऑफ 16 के मैच जीतकर टूर्नामेंट में बने रहने का एक और मौका था।

भारतीय जोड़ी को जर्मनी के पैट्रिक फ्रांज़िस्का (Patrick Franziska) और पेट्रीसा सोलजा (Petrissa Solja) की जोड़ी ने 11-6, 11-8, 11-6 से हराकर उनकी उम्मीदों को समाप्त कर दिया।

2020 हंगरियन ओपन में भारत के लिए आगे का सफर?

पुरुष और महिला दोनों सिंगल्स के साथ-साथ मिक्स डबल्स की चुनौतियों के समाप्त हो जाने के बाद भारतीय टेबल टेनिस प्रशंसकों को शनिवार को शरत कमल और साथियान गणानाशेखरन से उम्मीद होंगी।

ये जोड़ी भारत के लिए पहला डबल्स खिताब जीतने के प्रयास में पुरुष डबल्स फाइनल में जर्मनी के बेनेडिक्ट डूडा (Benedikt Duda) और पैट्रिक फ्रांज़ीस्का से भिड़ेगी।

कहां देख सकते हैं आप हंगरियन ओपन?

आप ITTF की वेबसाइट पर हंगरियन ओपन के मैचों के सीधा प्रसारण का तुफ्त उठा सकते हैं। रविवार को भारतीय समय अनुसार सुबह 1:20 बजे से वेबसाइट पर क्लिक करके पुरुष डबल्स के फाइनल का मुक़ाबला देखा जा सकता है।

क्या आपको यह आर्टिकल पसंद आया? इसे अपने दोस्तों के साथ साझा करें!