जीत के साथ ख़त्म हुआ पीवी सिंधु का बीडब्लूएफ वर्ल्ड टूर फाइनल का सफर

सिंधु ने दो सीधे गेमों में जीत दर्ज करते हुए टूर्नामेंट के अपने आख़िरी मुक़ाबले में फतह हासिल करके टूर्नामेंट में अपने अभियान का अंत किया।

लेखक अरसलान अहमर ·

बीडब्लूएफ वर्ल्ड टूर फाइनल के अपने आख़िरी मुक़ाबले में भारत की स्टार शटल पीवी सिंधु ने जीत दर्ज की। शुक्रवार को चीन की ही बिंग जियाओ के खिलाफ हुए मुक़ाबले में उन्होंने दो सीधे गेमों में फतह हासिल करते हुए टूर्नामेंट में अपने अभियान का अंत जीत के साथ किया।

यह मुक़ाबला दोनों ही शटलर के लिए महज़ एक औपचारिकता थी क्योंकि इन दोनों ही खिलाड़ियों को अपने शुरूआती दोनों मैचों में हार का सामना करना पड़ा था। 24 वर्षीय सिंधु ने सीधे गेमों में 21-19, 21-19 से चीनी शटलर पर जीत दर्ज की।

धीमी शुरुआत

पहले गेम में सिंधु ने धीमी शुरुआत करते हुए अपनी विरोधी खिलाड़ी को कुछ अंक बटोरने के मौक़े दिए। पहले जियाओ ने शुरुआत में शानदार खेल का मुज़ाहिरा पेश करते हुए 8-4 की बढ़त बनाई। इसके बाद भी उन्होंने गेम में अपनी पकड़ बनाए रखी और गेम ब्रेक तक स्कोर को 11-6 से अपने हक़ में कर लिया।

इसके बाद भी पहले गेम में चीनी शटलर ने गेम में अपना दबदबा बनाना जारी रखा और देखते ही देखते 18-9 की बढ़त हासिल कर ली। यहां ऐसा लग रहा था कि पहले गेम को जियाओ आसानी से अपने नाम करने में सफल होंगी। लेकिन यहां से सिंधु ने आक्रामक खेल दिखाना शुरू किया और लगातार 10 अंक अपने हक़ में करते हुए अपनी विरोधी खिलाड़ी पर दबाव बना लिया।

अब स्कोर सिंधु 19-18 से अपने हक़ में था और मुक़ाबला कड़ा होने वाला था। गेम के आख़िर में भारतीय शटलर ने अपना शानदार खेल जारी रखते हुए इसे 21-19 से जीत लिया।

भारतीय शटलर पीवी सिंधु ने दो सीधे गेमों को जीतते हुए मुक़ाबले को अपने नाम किया।

जारी रखा शानदार खेल

पहले गेम का आत्मविश्वास लेकर कोर्ट में उतरी सिंधु ने दूसरे गेम में भी अपना आक्रामक खेल जारी रखा। कुछ बेहद ही बेहतरीन शॉट्स के साथ उन्होंने 11-6 की बढ़त बना ली। अब यहां से उनकी नज़रें थीं गेम को अपने नाम करके मुकाबले को फतह करने की। लेकिन उनकी विरोधी शटलर ने भी अपने हथियार न डालने की थान ली थी।

जियाओ ने कुछ अंक ज़रूर बटोरे लेकिन स्कोर अभी भी 18-12 से सिंधु के पक्ष में था। आख़िर में कुछ गलती न करते हुए उन्होंने इस गेम को भी 21-19 से जीतते हुए मुक़ाबले को अपने नाम किया।

इस जीत के साथ भारतीय शटलर पीवी सिंधु ने बीडब्लूएफ वर्ल्ड टूर फाइनल के अपने अभियान का अंत जीत के साथ किया।