भारतीय स्टार टेबल टेनिस खिलाड़ी जी साथियान नेशनल्स के लिए ले रहे तकनीकी का सहारा  

आमतौर पर क्रिकेट में इस्तेमाल किया जाने वाले बॉल-ट्रैकिंग सॉफ्टवेयर को पहली बार टेनिस में आजमायेंगे भारतीय टेबल टेनिस खिलाड़ी 

लेखक दिनेश चंद शर्मा ·

भारत के शीर्ष टेबल टेनिस खिलाड़ियों में शुमार जी साथियान (G Sathiyan) 15 से 23 फरवरी तक पंचकुला में आयोजित होने वाले राष्ट्रीय खेलों के दौरान बॉल-ट्रैकिंग सॉफ़्टवेयर (Ball-Tracking Software) का इस्तेमाल करेंगे। 

 बॉल-ट्रैकिंग सॉफ़्टवेयर का उपयोग आमतौर पर क्रिकेट में किया जाता है, लेकिन पहली बार भारत में इसे टेबल टेनिस खिलाड़ी इस्तेमाल करेंगे। हालांकि सॉफ्टवेयर अभी भी परीक्षण के स्तर पर है, लेकिन साथियान को उम्मीद है कि इससे उसे अपने खेल को बेहतर ढंग से समझने में मदद मिलेगी।

सथियान ने टाइम्स ऑफ इंडिया को बताया, “इसके इस्तेमाल के लिए मुझे बस अपने मोबाइल फोन से अपने गेम की वीडियो रिकॉर्ड करनी होती है। रिकॉर्डिंग को सॉफ्टवेयर में फीड करते ही कुछ मिनटों में डाटा मिल जाता है।"

साथियान करीब दो महीने से बॉल-ट्रैकिंग डिवाइस का उपयोग कर रहे हैं। उन्होंने बताया कि इससे टेबल टेनिस खिलाड़ी को गेंद को मारते समय की गति, प्रक्षेपवक्र और गेंद को मारने वाले स्थान से पहुंचने वाले स्थान के बीच तय की गई दूरी जैसे महत्वपूर्ण बिंदुओं का सटीक डेटा प्राप्त करने में मदद मिलती है।

जीत हासिल करने के बाद जी साथियान

उन्होंने कहा, “यह कहना जल्दबाजी होगा कि इस सॉफ्टवेयर की वजह से मेरे खेल में ठोस परिवर्तन हुआ है, लेकिन समय के साथ इससे मिलने वाला डेटा मेरे खेल को सुधारने में बहुत मदद करेगा। इससे भी महत्वपूर्ण बात यह है कि खेलों का विश्लेषण करने के लिए गति, प्रक्षेपवक्र (ट्रजेक्टरी) और दूरी का डेटा होने के कारण अभ्यास सत्र सभी के लिए ज्यादा मजेदार हो गए हैं।"

इस तकनीक को विकसित करने वाली भारतीय स्टार्टअप कंपनी अपने उत्पाद की टेस्टिंग साथियान के कोच एस रमन द्वारा संचालित अकादमी में कर रही है। उनके कोच ने कहा कि सॉफ्टवेयर के माध्यम से डेटा का विश्लेषण करने की प्रक्रिया आसान है और वो इसके माध्यम से अपने खिलाड़ियों की मदद करना चाहते हैं।

रमन ने कहा, “TOPS और खेलो इंडिया केंद्र के माध्यम से खिलाड़ियों को इसके उपयोग में मदद करते हुए हमें बहुत खुशी हो रही थी। निश्चित स्थान पर एक कैमरा लगाया गया है, जो खिलाड़ियों के प्रशिक्षण सत्र को रिकॉर्ड करता है।"

उन्होंने कहा, “इसके परिणाम लगभग वास्तविक समय के हैं। सॉफ्टवेयर के माध्यम से उपलब्ध डेटा भारत में टेबल टेनिस खिलाड़ियों के लिए गेम चेंजर साबित हो सकता है।"