सुमित नागल और प्रजनेश गुणेश्वरन बिएला एटीपी चैलेंजर से हुए बाहर

नागल और गुणेश्वरन को अपने-अपने पहले दौर के सिंगल्स मैचों में सीधे सेटों में हार का सामना करना पड़ा।

लेखक विवेक कुमार सिंह ·

भारतीय टेनिस खिलाड़ी सुमित नागल (Sumit Nagal) और प्रजनेश गुणेश्वरन (Prajnesh Gunneswaran) को पहले दौर में इटली के एटीपी चैलेंजर बिएला क्ले कोर्ट टूर्नामेंट में क्रमश: ब्लेज़ केविक (Blaz Kavcic) और मैक्सिम क्रेसी (Maxime Cressy) से हार का सामना करना पड़ा।

नागल को तीसरी वरीयता प्राप्त खिलाड़ी से 6-7 (4-7), 4-6 से हार मिली। वो अपने स्लोवेनियाई प्रतिद्वंद्वी से सीधे सेटों में हार गए, जबकि सातवीं वरीयता प्राप्त गुणेश्वरन अपने अमेरिकी प्रतिद्वंद्वी के खिलाफ 6-7 (5-7), 4-6 से हार का सामना करना पड़ा।

सुमित नागल ने शुरुआती दौर में लय में नज़र आए और पहले सेट का पहला गेम 40-0 के साथ जीता। भारतीय खिलाड़ी ने इसके बाद स्लोवेनियाई खिलाड़ी के सामने कड़ी चुनौती पेश की और दूसरे गेम में बेसलाइन से कुछ शानदार रिटर्न के सहारे लंबी रैलियां खेली।

केविक दो ब्रेक पॉइंट बचाने में सफल रहे लेकिन नागल को 2-0 की बढ़त बनाने से नहीं रोक सके।

सुमित नागल भारत के शीर्ष क्रम से टेनिस खिलाड़ी हैं।

हालांकि, स्लोवेनियाई ने पांचवें गेम में नागल की सर्विस तोड़ते हुए वापसी की। भारतीय ने इसका जवाब देते हुए छठे गेम में फिर से केविक की सर्विस तोड़ दी। सातवें में वो अपनी सर्विस बचाने में असफल रहे और विश्व नंबर 298 स्लोवेनियाई ने उनकी बढ़त को खत्म करते हुए सेट को 4-4 पर बराबर कर दिया।

पहले सेट में मुक़ाबला टाई-ब्रेकर में पहुंचा, तो दोनों खिलाड़ियों ने अगले चार गेमों तक अपनी सर्विस नहीं गंवाई। पहले से सात अंकों के टाई-ब्रेकर में नागाल को शूटआउट में 7-4 से हार मिली और परिणामस्वरूप 7-6 से सेट हार गए।

दूसरे सेट में वापसी करने के लिए, नागल ने तीसरे गेम में कविक की सेर्विस तोड़ी। लेकिन पहले पहले सेट की तरह वो अपनी पढ़त ज्यादा देर तक बरकरार नहीं रख सके और आठवें गेम में सर्विस गंवा दी।

इस सर्विस ने मैच के नतीजा तय कर दिया क्योंकि काविक ने नौवें गेम में सर्विस बचाई ली और 10वें गेम में फिर से भारतीय की सर्विस तोड़कर दूसरे सेट को 6-4 से जीत लिया।

प्रजनेश गुणेश्वरन भी नहीं बढ़ सके आगे

दूसरी ओर गुणेश्वरन ने टाई-ब्रेकर में पहला सेट गंवा दिया। वो शुरूआत से ही लय में नज़र नहीं आ रहे थे।

प्रजनेश गुणेश्वरन ने टाई-ब्रेकर के माध्यम से पहला सेट गंवा दिया और दूसरे सेट में वापसी नहीं कर पाए।

दूसरे सेट का नौवां गेम बहुत ही महत्वपूर्ण था, गुणेश्वरन अपनी सर्विस नहीं बचा सके और दुनिया के नंबर 159 नंबर के खिलाड़ी क्रेसी के खिलाफ वो हार गए।

दोनों भारतीय टेनिस खिलाड़ियों के लिए ये निराशाजनक सप्ताह रहा है। पहले दौर के सिगंल्स क्वालिफ़ायर्स हारने के बाद नागल फ्रेंच ओपन के मुख्य ड्रॉ में जगह बनाने में नाकाम रहे, जबकि दूसरे दौर में गुणेश्वरन का भी अभियान समाप्त हो गया।

मंगलवार को होगी डबल्स खिलाड़ियों से उम्मीदें

सिंगल्स खिलाड़ियों के निराशाजनक प्रदर्शन के बाद, एटीपी चैलेंजर इवेंट में भारतीय डबल्स खिलाड़ी चुनौती पेश करेंगे, जिसमें एन श्रीराम बालाजी (N Sriram Balaji) और रामकुमार रामनाथन (Ramkumar Ramanathan) पर उम्मीदें टिकी हुई हैं।

बालाजी और उनकी स्विस जोड़ीदार लुका मार्गोली (Sergio Gornes) को डबल्स में तीसरी वरियता दी गई है। वो अपने पहले दौर के डबल्स मुकाबले में मंगलवार को अर्जेंटीना के फेसुंडो बैगनीस (Andrea Pellegrino) और पेरू के सर्जियो गालदोस (Gian Marco Moroni) का सामना करेंगे।

इस बीच, रामनाथन और स्पेन के सर्जियो गोरन्स की चौथी वरीयता प्राप्त जोड़ी उसी दिन एंड्रिया पेलग्रिनो और जियान मार्को मोरोनी की ऑल-इटालियन जोड़ी के खिलाफ कोर्ट पर उतरेगी।