टेबल टेनिसः WTT स्टार कंटेंडर और ओलंपिक क्वालीफायर से पहले होंगे नेशनल

कार्यक्रम में बदलाव से भारतीय खिलाड़ी पहले पहुंच सकेंगे दोहा  

लेखक दिनेश चंद शर्मा ·

ओलंपिक क्वालीफायर सहित आगामी महत्वपूर्ण टूर्नामेंटों को देखते हुए टेबल टेनिस फेडरेशन ऑफ इंडिया (TTFI) ने राष्ट्रीय चैंपियनशिप की तारीखों को आगे बढ़ाने का फैसला किया है।

पूर्व में इस टूर्नामेंट का आयोजन 18 से 27 फरवरी के बीच निर्धारित किया गया था। इसमें अचंत शरत कमल जैसे शीर्ष भारतीय टेनिस खिलाड़ियों को शामिल किया गया था, जो महत्वपूर्ण आयोजनों से पहले कुछ प्रतिस्पर्धात्मक अनुभव हासिल करना चाहते हैं।

अब नेशनल्स का आयोजन कुछ दिन पहले निर्धारित किया गया है। यह टूर्नामेंट 15 से 23 फरवरी तक आयोजित किया जाएगा। इसके अलावा आयोजन स्थल भी सोनीपत से पंचकुला (चंडीगढ़ के पास) में बदल दिया गया है।

यह बदलाव इसलिए किया गया है, क्योंकि इससे भारतीय दल $ 200,000 डब्ल्यूटीटी स्टार कंटेंडर इवेंट की तैयारी के लिए दोहा पहले पहुंच सके, इसका क्वालिफायर 28 फरवरी से शुरू होगा।

भारत के टेबल टेनिस खिलाड़ी अचंत शरत कमल

स्टार कंटेंडर के तुरंत बाद दोह में ही ओलंपिक क्वालिफायर होगा। एशियाई ओलंपिक क्वालीफायर 13 से 15 मार्च के बीच होगा। भारतीय टेनिस खिलाड़ी यहां टोक्यो 2020 के लिए कोटा हासिल करना चाहते हैं। यहां शरत कमल और जी साथियान के पास फाइनल में जगह बनाने का भी अच्छा मौका है। इसके बाद 16 मार्च से दोहा में ही विश्व ओलंपिक क्वालीफायर होंगे। 

वहीं, महिलाओं की राष्ट्रीय प्रतियोगिता 15 फरवरी से और 19 फरवरी से पुरुषों की प्रतियोगिता शुरू होगी।

TTFI के सचिव एमपी सिंह ने द हिन्दू को बताया, “हम उम्मीद करते हैं कि खिलाड़ी 13 फरवरी की शाम तक पहुंचेंगे, ताकि हम उनका कोरोना एंटीजन टेस्ट कर, 15 फरवरी को समय पर महिलाओं की प्रतियोगिता शुरू कर सकें।”  

टूर्नामेंट सभी आवश्यक सुरक्षा प्रोटोकॉल की पालना के बाद ही आयोजित किया जाएगा। सोनीपत में आवास सुविधा की कमी के कारण टूर्नामेंट का आयोजन स्थल बदलना पड़ा।  

इसी समय इंदौर में नेशनल कैडेट और सब-जूनियर चैंपियनशिप होने वाली है। वहीं, नेशनल यूथ और जूनियर चैंपियनशिप मार्च में सोनीपत में आयोजित की जाएगी। इन आयोजनों की तिथियों की घोषणा निश्चित समय पर की जाएगी।