बॉक्सिंग

जानें मुक्केबाज़ कैसे, कब और कहां हासिल कर सकते हैं ओलंपिक 2020 का टिकट

लेखक Olympic Channel ·

इंटरनेशनल बॉक्सिंग एसोसिएशन (एआईबीए) को निलंबित करने के अंतरराष्ट्रीय ओलंपिक समिति के फैसले के बाद टोक्यो 2020 ओलंपिक में खेल को वितरित करने के लिए ओलंपिक बॉक्सिंग टास्क फोर्स बनाया गया।

ये निर्णय आईओसी की जांच समिति द्वारा नवंबर 2018 में की गई सिफारिशों पर आधारित है, जो एआईबीए के सभी मामलों- वित्त, प्रशासन, नैतिकता, और रेफरी और न्याय को देखती है। 

ओलंपिक बॉक्सिंग टास्क फोर्स भी खेलों का नया क्वालिफिकेशन सिस्टम है, जिसमें पांच क्वालीफाइंग टूर्नामेंट के माध्यम से तय होगा कि कौन कौन मुक्केबाज़ टोक्यो जाएंगे।

क्वालिफाइंग इवेंट्स के बारे में अधिक जानकारी के लिए नीचे जाएं, जहां आपको किसी भी एथलीट के इवेंट की जानकारी मिल जाएगी।

यहां बताया गया है कि कैसे मुक्केबाज़ टोक्यो 2020 के लिए क्वालिफाई करेंगे

ओलंपिक बॉक्सिंग क्वालिफिकेशन टूर्नामेंट, भार वर्गों के साथ-साथ जापान में ओल...

टोक्यो 2020 के क्वालिफिकेशन इवेंट्स का कार्यक्रम

अफ्रीका: डैकर, सेनेगल

20 से 29 फरवरी 2020

जगह: डैकर इंटरनेशनल एक्सपो सेंटर, डियामनियाडियो

एशिया/ओशियाना: अम्मान, जॉर्डन

3 से 11 मार्च 2020

(फरवरी में कोरोना वायरस के लक्षण पाए जाने के बाद हुहान से मेज़बानी लेकर जॉर्डन को दे दी गई)

यूरोप: लंदन, ग्रेट ब्रिटेन

14 से 24 मार्च 2020

जगह: कॉपर बॉक्स एरीना, क्वीन एलिज़ाबेथ ओलंपिक पार्त

अमेरिका: अर्जेनटीना, ब्यूनस आइरेस

27 मार्च से 3 अप्रैल 2020

जगह: सिनार्ड हाई-परफॉर्मेंस एथलेटिक्स ट्रैनिंग सेंटर

वर्ल्ड: पेरिस, फ्रांस

13 से 24 मई 2020

जगह: ग्रांड डोम, विल्लेबन-सुर-वेत्ते

पेरिस में आयोजन होने वाला फाइनल वर्ल्ड इवेंट एथलीटों को क्वालिफिकेशन हासिल करने का दूसरा मौका देगी, और ये केवल उन मुक्केबाजों के लिए खुला होगा जो अभी तक कॉंटिनेंटल इवेंट्स के लिए योग्य नहीं हैं।

टोक्यो 2020 में मुक्केबाजी का क्वालिफिकेशन इवेंट वजन वर्गों में लड़ा जाएगा।

पुरुष सभी 8 वेट कैटेगरी में प्रतिस्पर्धा करेंगे।

फ्लाईवेट (52किग्रा.)

फेदरवेट (57 किग्रा.)

लाइटवेट (63 किग्रा.)

वेल्टरवेट (69 किग्रा.)

मिडलवेट (75 किग्रा.)

लाइट हैवीवेट (81 किग्रा.)

हैवीवेट (91 किग्रा.)

सुपर हैवीवेट (+91 किग्रा.)

महिलाएं सभी 5 वेट कैटेगरी में प्रतिस्पर्धा करेंगी।

फ्लाईवेट (51 किग्रा.)

फेदरवेट (57 किग्रा.)

लाइटवेट (60 किग्रा.)

वेल्टरवेट (69 किग्रा.)

मिडलवेट (75 किग्रा.)

महिला मुक्केबाजी प्रतिनिधित्व ट्रिपल्स का लिंग समानता में सुधार के बाद टोक्यो 2020 में भी समान संख्या में मुक्केबाज़ प्रतिस्पर्धा करेंगी, जैसा कि रियो 2016 में चार साल पहले हुआ था।

हालांकि, उन 286 एथलीटों की वर्ग और संयोजन में काफी बदलाव आएगा।

महिला मुक्केबाजी की गुणवत्ता को बनाए रखते हुए लैंगिक समानता को बढ़ावा देने की आईओसी की प्रतिबद्धता की एक पहल देखने को मिलेगी जहां रियो में 250 पुरुषों और 36 महिलाओं को हिस्सा लेने का मौका मिला था, वहीं जापान में होने वाले खेलों में186 पुरुष और 100 महिलाओं की संख्या होगी, जिसमें महिलाओं की वेट कैटेगरी तीन से बढ़कर पांच हो जाएगी। 

6 स्पॉट (चार पुरुषों और दो महिलाओं) को मेजबान जापान के लिए आरक्षित किया गया है, जबकि आठ और स्पॉट (पांच पुरुषों और तीन महिलाओं) को ट्राइपार्टी इनविट्सन कमिशन के लिए आवंटित किया गया है।

जिनपर होंगी नज़रें: ली क्विआन, लौरेन प्राइस, जूलियो दे ला क्रूज

एशिया में चीन के पास अच्छे हैवीवेट की बॉक्सर हैं, जिसकी वजह से 2019 एशियन चैंपियनशिप्स में उसने 6 गोल्ड मेडल जीता था। ली क्विआन से चीन को उम्मीद है जिसने रियो में कांस्य और 2019 एशियन चैंपियनशिप्स में गोल्ड जीता था।

एशिया की और देशों की बात करें तो टोक्यो 2020 के लिए अमित पंघल के क्वालिफाई करने के बाद भारत आश्वस्त नज़र आएगा, क्योंकि विश्व चैंपियनशिप्स का सिल्वर और एशियन चैंपियनशिप्स का गोल्ड हासिल कर इस फ्लाईवेट मुक्केबाज़ ने खुद को बड़े लेवल का खिलाड़ी साबित किया है।

युगांडा के मिडलवेट मुक्केबाजी डेविड सेमुजु इस मिशन को हासिल कर देश का गौरव बढ़ाएंगे। एक समय युगांडा को अफ्रीका के शीर्ष मुक्केबाजी राष्ट्र के रूप में माना जाता था, लेकिन युगांडा 1990 के दशक में तोड़ा पिछड़ गया, लेकिन अफ्रीकी खेलों में रजत पदक विजेता सेमुजु, राष्ट्र के गौरव को फिर से बढ़ा सकते हैं।

ली ने जीता था बॉक्सिंग का कांस्य

ली ने जीता था बॉक्सिंग का कांस्य

बात यूरोप की करें तो ग्रेट ब्रिटेन महिलाओं की मिडलवेट विश्व चैंपियन बॉक्सर लॉरेन प्राइस से पदक की उम्मीद करेगा। पूर्व किकबॉक्सिंग विश्व चैंपियन ने खुद को बड़े मैचों का खिलाड़ी बनाया है, जिसने अंतरराष्ट्रीय स्तर पर फुटबॉल और ताइक्वांडो में भी प्रतिस्पर्धा की है।

पुरुषों के ड्रॉ में यूक्रेन के ओलेक्ज़ेंडर हाईजनियाक को नए वासिल लोमचेंको के रूप में देखा जा रहा है। विश्व और यूरोपियन गोल्ड मेडलिस्ट ओलेक्ज़ेंडर हाईजनियाक को दावेदार के रुप में देखा जा रहा है। 

क्यूबा भी मुक्केबाजी में अच्छा करता आया है, और इस देश के एथलीट अमेरिका के क्वालीफाइंग स्पर्धा में प्रतिस्पार्धा करेंगे।

लाइट-हैवीवेट ओलंपिक चैंपियन जूलियो सीजर डी ला क्रूज़ ये साबित करने के लिए रिंग में उतरेंगे कि वो इस खेल में अभी भी शीर्ष पर हैं, जबकि 64 किलोग्राम भारवर्ग के विश्व चैंपियन एंडी क्रूज़ की कोशिश यही होगी कि क्यूबा पहले से बेहतर प्रदर्शन करें।

इन सभी अपडेट्स की जानकारी के लिए आप ओलंपिक चैनल के साथ बने रहें।