TOPS के तहत टोक्यो जाने वाली सिमरनजीत को मिलेगा मैरी कॉम का साथ

सिमरनजीत, पूजा रानी, आशीष कुमार और सतीश कुमार TOPS में मैरी कॉम के साथ जुड़ने के लिए तैयार हैं।

लेखक जतिन ऋषि राज ·

टोक्यो 2020 में जाने वाले भारतीय बॉक्सर सुम्रंजीत कौर (Simaranjit Kaur), पूजा रानी (Pooja Rani), आशीष कुमार (Ashish Kumar) और सतीश कुमार (Satish Kumar), एमसी मैरी कॉम (MC Mary Kom) और अमित पंघल (Amit Panghal) के साथ टारगेट ओलंपिक पोडियम स्कीम (Target Olympic Podium Scheme – TOPS) में जुड़ेंगे।

TOPS, भारतीय खेल मंत्रालय की एक पहल है जिसमें ओलंपिक गेम्स में मेडल जीतने वाले उम्मीदवारों को ट्रेनिंग के साथ आर्थिक मदद भी दी जाती है।

वर्ल्ड ब्रॉन्ज़ मेडल विजेता सिमरनजीत कौर (महिला 60 किग्रा), 2019 एशियन चैंपियनशिप गोल्ड मेडल विजेता पूजा रानी (महिला 75 किग्रा) ऐसी दो महिलाएं हैं जिन्होंने इस लिस्ट में अपना नाम शुमार कराया है।

6 बार की वर्ल्ड चैंपियन और ओलंपिक गेम्स में ब्रॉन्ज़ मेडल जीतने वाली दिग्गज भारतीय मुक्केबाज़ एमसी मैरी कॉम (महिला 51 किग्रा) और वर्ल्ड में दो बार ब्रॉन्ज़ पर हक जमाने वाललवलीना बोरगोहेन (Lovlina Borgohain) (महिला 69 किग्रा) को लिस्ट में रिटेन किया गया है।

वहीं पुरुष मुक्केबाज़ों की बात करें तो आशीष कुमार (पुरुष 75 किग्रा) और कॉमनवेल्थ गेम्स में सिल्वर मेडल जीतने वाले सतीश कुमार (पुरुष 91+ किग्रा) को भी लिस्ट में शामिल किया गया है। ग़ौरतलब है कि सतीश कुमार सुपरहेवीवेट भारवर्ग में ओलंपिक गेम्स के लिए क्वालिफाई करने वाले पहले भारतीय बॉक्सर बनें।

AIBA रैंक नंबर 1 अमित पंघल (Amit Panghal) (पुरुष 52 किग्रा), मनीष कौशिक (Manish Kaushik) (पुरुष 63 किग्रा), विकास कृषण (Vikas Krishan) (पुरुष 69 किग्रा) और कविंदर सिंह बिष्ट (Kavinder Singh Bisht) (पुरुष 57 किग्रा) ने भी TOPS एलीट ग्रुप में अपनी जगह बनाई है।

कविंदर को छोड़कर बाकी 9 मुक्केबाज़ टोक्यो 2020 के इए क्वालिफाई कर चुके हैं। यह कारनाम उन्होंने एशियन बॉक्सिंग क्वालिफायर्स के दौरान किया।

मिशन ओलंपिक सेल (Mission Olympic Cell – MOC), एक संगठन जो TOPS की गतिविधियों पर नज़र रखता है और उन्होंने निकहत ज़रीन (Nikhat Zareen) (महिला 51 किग्रा), सोनिया चहल (Sonia Chahal) (महिला 57 किग्रा) और शिव थापा (Shiva Thapa) इस लिस्ट का हिस्सा नहीं बनाया है। हालांकि इन तीनों को डेवलपमेंट ग्रुप का हिस्सा बनाया है जहां देश के खिलाड़ियों का भविष्य निखारने की प्रक्रिया का आयोजन किया जाता है।

ग़ौरतलब है कि निकहत ज़रीन उसी भरवर्ग में लड़ती हैं जिसमें मैरी कॉम शामिल हैं और शिव थापा और मनीष कौशिक भी 63 किग्रा में स्पर्धा करत है