दोहरी हार के साथ खत्म हुई टोयोटा थाईलैंड ओपन में भारत की चुनौती

भारतीय पुरुष और मिश्रित युगल जोड़ी को टोयोटा थाईलैंड ओपन के सेमीफाइनल हार का सामना करना पड़ा। इस हार के साथ इस प्रतियोगिता में भारत की चुनौती समाप्त हो गई।

लेखक विवेक कुमार सिंह ·

टोयोटा थाईलैंड ओपन (Toyota Thailand Open) में भारत की चुनौती शनिवार को समाप्त हो गई जब मिश्रित युगल में सात्विकसाईराज रंकिरेड्डी (Satwiksairaj Rankireddy) और अश्विनी पोनप्पा (Ashwini Ponnappa) सेमीफाइनल में शीर्ष वरीयता प्राप्त डेकारपोल पुवारनारुख (Dechapol Puavaranukroh) और सेपसीरे ताइरेतानाचाई (Sapsiree Taerattanachai) से हार गए।

भारतीय जोड़ी अपने थाई प्रतिद्वंदियों से 20-22, 18-21, 21-12 से हार गए। इससे पहले सात्विक और उनके साथी चिराग शेट्टी (Chirag Shetty) भी सेमीफाइनल में हार के बाद प्रतियोगिता से बाहर हो गए थे।

शीर्ष वरीयता प्राप्त जोड़ी के खिलाफ सात्विक-पोनप्पा ने पहले गेम में अच्छी शुरुआत की और थाई जोड़ी के साथ कदम से कदम मिला कर रखा। सात्विक की बैक कोर्ट कवरेज और पोनप्पा की शानदार खेल की वजह से पुरावरणुकरो और तेरातनचाई को कांटे की टक्कर मिली।

हालांकि, मिड-गेम ब्रेक के ठीक बाद एकाग्रता में चूक दिखी और वो चार अंकों से पीछे हो गए। भारतीय जोड़ी ने आखिर में कुछ शानदार खेल दिखाया और तीन गेम प्वॉइंट बचाए, लेकिन अंततः 22-20 से गेम हार गए।

टोयोटा थाईलैंड ओपन सेमीफाइनल में सात्विकसाईराज रंकीरेड्डी और अश्विनी पोनप्पा को शीर्ष वरीय जोड़ी के खिलाफ मिली हार। फोटो: बैडमिंटनफोटो - साभार: BWF

पुरावरणरुख और तेरतनचाई ने दूसरे गेम में शानदार शुरूआत की और भारतीय खिलाड़ियों को बैकफुट पर रखा और कई गलतियां करने पर मजबूर किया।

मिड-गेम ब्रेक से पहले पांच अंकों से पीछे चलने के बाद इस जोड़ी ने शानदार खेल दिखाया और स्कोर को 12-12 कर दिया। भारतीय जोड़ी ने इस गेम में अपनी लय बरकरार रखी और दूसरा गेम 21-18 से अपने नाम कर लिया।

तीसरे गेम में भारतीय जोड़ी अपनी लय से एक दम भटकी हुई नज़र आई और थाई जोड़ी ने तीसरा गेम आराम से 21-12 से जीत लिया।

सात्विकसाईराज ने मैच के बाद कहा, "मैं आज के प्रदर्शन से खुश हूं। पिछले दो मैचों में प्रदर्शन अच्छा था। मुझे लगता है कि हमने पुरावरणरुख और तेरतनचाई जैसे शीर्ष खिलाड़ियों के खिलाफ अपने करियर के सर्वश्रेष्ठ मैचों में से एक खेला है। हम पहले भी अभ्यास नहीं कर सके थे।हम यहां खेलना चाहते थे। हमने आज अच्छी टक्कर दी। ये मैच बहुत करीब था।"

पुरुष युगल में सात्विक-चिराग भी हारे

डिफेंडिंग पुरुष युगल चैंपियन सात्विकसाईराज रंकिरेड्डी और चिराग शेट्टी को अपने सेमीफाइनल मैच में मलेशिया के आरोन चिया (Aaron Chia) और सोह वू यिक (Soh Wooi Yik) से सीधे गेम में हार का सामना करना पड़ा। इस तरह वो थाईलैंड ओपन से बाहर हो गए।

हालांकि भारतीयों ने बिना कोई गेम गंवाए अंतिम चार में अपनी जगह बनाई थी, लेकिन इंपैक्ट एरिना में शनिवार के मुक़ाबले में उन्हें 21-18, 21-18 से हार का सामना करना पड़ा।

पहले गेम में सात्विक-चिराग ने छोटी-छोटी रैलियों के जरिए शानदार मुक़ाबला किया। जहां चिराग शेट्टी अपना फेवरेट नेट गेम खेल रहे थे, तो वहीं सात्विकसाईराज रंकीरेड्डी अपना शानदार स्मैश लगा रहे थे।

हालांकि भारतीय जोड़ी को अपनी सर्विस में गलती की वजह से पहला गेम 21-18 से गवांना पड़ा और मलेशियाई जोड़ी ने मैच में 1-0 की बढ़त बना ली।

दूसरे गेम में मलेशियाई खिलाड़ी ज्यादा असरदार नज़र आए और आसानी से रैलियों को नियंत्रित किया, जिससे भारतीय खिलाड़ियों ने कई ग़लतियाँ की। हालाँकि चिराग-सात्विक ने मिड-गेम ब्रेक तक 8-8 का स्कोर पहुंचा दिया। लेकिन चिया और यिक ने शानदार खेल दिखाया और 20-14 की बढ़त बना ली।

छह मैच प्वॉइंट बचाते हुए भारतीय जोड़ी ने सेमीफाइनल मैच को बचाने की पूरी कोशिश की। लेकिन दूसरा गेम भी वो 21-18 से हार गए।

मैच के बाद सात्विकसाईराज रंकीरेड्डी ने कहा, "हमने शटल को नियंत्रित नहीं किया, हमने दूसरे गेम में इस चीज को हासिल करने की कोशिश।”

“वे अधिक अनुभवी खिलाड़ी हैं। उन्होंने 2019 में ऑल इंग्लैंड फाइनल में जगह बनाई थी। “हम हर एक अंक के लिए लड़े और शायद हम और धैर्य से खेल सकते थे। हम निराश हैं लेकिन सेमीफाइनल में खेलने से खुश हैं।”