तवेसा मलिक और दीक्षा डागर स्विस ओपन गोल्फ़ प्रतियोगिता से हुईं बाहर

2020 स्विस लेडीज़ ओपन गोल्फ़ टूर्नामेंट में भारतीय महिला गोल्फ़रों का प्रदर्शन उम्मीद के मुताबिक़ नहीं हो पाया।

लेखक सैयद हुसैन ·

भारत की महिला गोल्फ़र तवेसा मलिक (Tvesa Malik) और दीक्षा डागर (Diksha Dagar) 2020 स्विस लेडीज़ ओपन गोल्फ़ टूर्नामेंट में कट बनाने से चूक गईं।

पिछले हफ़्ते फ़्लमसर्बर्ग लेडीज़ ओपन में चौथे स्थान पर रहते हुए तवेसा मलिक ने सभी को प्रभावित किया था और उम्मीद थी कि इसी फ़ॉर्म को वह स्विस ओपन में भी जारी रखेंगी। लेकिन गोल्फ़पार्क होलजाउसर्न में तवेसा और उनकी साथी दीक्षा डागर दोनों ने ही निराश किया।

तवेसा पूरी तरह से लय खो चुकीं थीं और उन्होंने दो राउंड में महज़ तीन बर्डी ही लगाया, और फ़ोर-ओवर 148 (71+77) के स्कोर के साथ शुक्रवार को वह 81वें स्थान पर रहीं।

दूसरी तरफ़ दीक्षा भी प्रभावित नहीं कर पाईं और दो राउंड में 23-ओवर 167 (87+80) के स्कोर के साथ टूर्नामेंट ख़त्म किया, जो कट ऑफ़ मार्क से काफ़ी पीछे था।

फ़िनलैंड की साना नुतिनेन (Sanna Nuutinen) को अगर 2014 के बाद पहला LET ख़िताब जीतना है तो अब शनिवार को अपने खेल को और ऊपर ले जाना होगा।

29 वर्षीय इस खिलाड़ी ने अब तक वेल्स की एमी बोल्डेन (Amy Boulden) के ख़िलाफ़ वन-शॉट एडवांटेज से बढ़त बनाई हुईं हैं। जबति तीसरे और फ़ाइनल राउंड में वह प्रवेश कर चुकी हैं।

एक साधारण प्रदर्शन

लॉकडाउन की वजह खेल गतिविधियों को रोक दिया गया था और ये पहली बार था कि दोबारा दर्शकों की मौजूदगी में ये टूर्नामेंट खेला जा रहा है, जहां तवेसा मलिक शुरुआत से ही उम्मीदों के मुताबिक़ नहीं खेल पाईं। पहला राउंड उन्होंने बेहद सावधानी के साथ शुरू किया था और फिर जैसे जैसे खेल आगे बढ़ा उनका प्रदर्शन गिरता चला गया।

भारतीय महिला गोल्फ़र तवेसा मलिक 2020 स्विस लेडीज़ ओपन में उम्मीद के मुताबिक़ नहीं किया प्रदर्शन। तस्वीर साभार: LET

25 वर्षीय इस भारतीय खिलाड़ी के लिए 13वीं बोगी बेहद भारी पड़ी जब वह सही स्विंग नहीं कर पाईं।

हालांकि तवेसा ने पार-थ्री 15वें में एक बेहतरीन बर्डी लगाई जिसके बाद वह गुरुवार को अपने किए प्रदर्शन के बेहद क़रीब आ गईं थीं और 17वें स्थान पर थीं।

दूसरे राउंड में एक बार फिर तवेसा संघर्ष करती हुईं दिखीं और वह तीसरे, पांचवें और 14वें बोगी में लुढ़ककर काफ़ी नीचे आ गईं।

उधर दीक्षा डागर ने 2020 स्विस लेडीज़ ओपन का आग़ाज़ को शानदार अंदाज़ में किया था जब एक बेहतरीन बर्डी लगाई। लेकिन डबल बोगी में वह लड़खड़ा गईं और 15 ओवर 87 के साथ उन्होंने पहला राउंड ख़त्म किया।

दूसरे राउंड में भी दीक्षा वापसी करने से चूक गईं, दो डबल-बोगी के बाद दीक्षा ने टूर्नामेंट निराशाजनक अंदाज़ में ख़त्म किया।