WFI की नज़र ओलंपिक क्वालिफायर्स से पहले रेसलिंग ट्रायल्स पर

भारतीय पहलवानों के पास अप्रैल मई में होने वाले ओलंपिक क्वालिफायर्स के ज़रिए टोक्यो गेम्स में जगह बनाने का सुनहरा मौका।

लेखक जतिन ऋषि राज ·

रेसलिंग फेडरेशन ऑफ़ इंडिया (Wrestling Federation of India – WFI) मार्च के महीने मैंने सेलेक्शन ट्रायल्स का आयोजन करना चाहते हैं ताकि वह अपने पहलवानों को टोक्यो 2020 के लिए तैयार कर सकें। यह ट्रायल्स अप्रैल और मई में होने वाले टोक्यो ओलंपिक ट्रायल्स की तैयारी के लिए निर्धारित किए जाएंगे।

ग़ौरतलब है कि 4 भारतीय रेसलर बजरंग पुनिया (Bajrang Punia – मेंस 65 किग्रा) दीपक पुनिया (Deepak Punia मेंस 74 किग्रा), रवि दहिया (Ravi Kumar Dahiya - मेंस 57 किग्रा) और विनेश फोगाट (Vinesh Phogat – वुमेंस 53 किग्रा) ने 2019 वर्ल्ड रेसलिंग चैंपियनशिप में बेहतरीन प्रदर्शन करने की बदौलत टोक्यो गेम्स के लिए क्वालिफाई कर लिया है।

हालांकि अभी भी अलग-अलग वर्ग में 14 जगहें बुक की जा सकती हैं। भारतीय पहलवानों के पास ओलपिक में क्वालिफाई करने के आखिरी दो मौके कज़ाखस्तान में 9 से 11 अप्रैल में होने वाले एशियन ओलंपिक क्वालिफायर्स और 6 से 9 मई तक बुल्गारिया में होने वाले वर्ल्ड ओलंपिक क्वालिफायर्स के रूप में हैं।

सेलेक्शन ट्रायल्स यह उन पहलवानों को पुख्ता करेंगे जो इन दो क्वालिफाइंग प्रतियोगिताओं में भाग लेंगे। WFI के असिस्टेंट सेक्रेटरी विनोद तोमर (Vinod Tomar) ने wrestling.tv को दिए इंटरव्यू में बताया “अभी ट्रायल्स की डेट पुख्ता नहीं की है लेकिन यह टोटी हा इन्हें मार्च के महीने में कराया जाएगा। “यह हमे अप्रैल के लिए पहलवानों को तैयार करने का समय दे देगा।”

भारत की सरज़मीन के कुछ बड़े नाम भी इन ट्रायल्स में शिरकत करते हुए दिखाई देंगे। रियो 2016 में ब्रॉन्ज़ जीत चुकी भारतीय पहलवान साक्षी मलिक (Sakshi Malik) और दो बार ओलंपिक मेडल जीतने वाले सुशील कुमार (Sushil Kumar) ने अभी तक ओलंपिक गेम्स के लिए क्वालिफाई नहीं किया है इसी वजह से वे इन ट्रायल्स में पसीना बहाते नज़र आएंगे।

क्वालिफायर्स तक पहुंचने के इए साक्षी मलिक और सुशील कुमार को इन ट्रायल्स तक जाने के लिए भी कई कड़े रास्तों से निकलना होगा।

साक्षी मलिक की नज़र वुमेंस 62 किग्रा भारवर्ग पर होगी जहां उनका सामना युवा रेसलर सोनम मलिक (Sonam Malik) से होगा। पहले की बात की जाए तो सोनम ने साक्षी को पस्त भी किया है।

वुमेंस 57 किग्रा भारवर्ग में भी दिग्गजों का आमना सामना होगा। इस वर्ग में अंशू मलिक (Anshu Malik) का सामना 2018 वर्ल्ड चैंपियनशिप में ब्रॉन्ज़ मेडल जीत चुकी पूजा ढांडा (Pooja Dhanda) से होगा और पूर्व एशियन चैंपियन सरिता मोर (Sarita Mor) भी इसी वर्ग में अपना कौशल दिखाती दिखाई देंगी।

सबसे ज़्यादा किसी की बात की जा रही है तो है नरसिंह यादव (Narsingh Yadav) की और इनका सामना हो सकता है सुशील कुमार से। इतना ही नहीं अब संदीप सिंह मान (Sandeep Singh Mann) भी अपना जलवा दिखाते हुए नज़र आएंगे।

संदीप ने हाल ही में सीनियर नेशनल चैंपियनशिप में जितेंदर कुमार को (Jitender Kumar) मात देते हुए गोल्ड मेडल पर अपने नाम की मुहर लगाई थी।