एशियन चैंपियनशिप में शिरकत करने के लिए चीनी पहलवानों को मिलेगी हरी झंडी 

कोरोनावायरस से संक्रमित चीन देश के पहलवान जांच में पॉजिटिव नहीं पाए जाने के बाद अब भारत में दिखाएंगे अपना दम।   

रेसलिंग फेडरेशन ऑफ़ इंडिया ने आने वाली एशियन चैंपियनशिप के लिए चीनी पहलवानों को भारत में आने की आज्ञा दे दी है। चीन अपने 40 खिलाड़ियों के साथ भारत की सरज़मीं पर इस प्रतियोगिता का हिस्सा बनने उतरेगा और इस खेमे से कड़े मुकाबलों की उम्मीद भी की जा सकती है। 

गौरतलब है कि चीन में फैले कोरोनावायरस के चलते भारत सरकार ने चीन से आने वाले लोगों के लिए ई-वीज़ा सुविधा को रद्द कर दिया है लेकिन चीनी पहलवानों को भारत आने के लिए सरकार की तरफ से हरी झंडी दे दी गई है। खेल को भारत ने हमेशा इज्ज़त दी है और इस बार भी चीनी पहलवानों को वीज़ा में सुविधा प्रदान कर भारत ने अपने खेल के प्रति अपनी प्रेम और निष्ठा उजागर कर एक शानदार मिसाल पेश की है। 

डब्लूएफआई प्रेसिडेंट, ब्रज भूषण शरण सिंह ने प्रेस ट्रस्ट ऑफ़ इंडिया से बात करते हुए कहा “आज मैं विदेश मंत्री से मिला हूं और उम्मीद करता हूं कि इस समस्या का समाधान जल्द ही मिलेगा।” चीनी रेसलिंग एसोसिएशन (सीडब्लूए) ने आश्वासन दिया है कि 40 यानि सभी खिलाड़ियों का टेस्ट हुआ है और कोई भी इस वायरस से संक्रमित नहीं है। हालांकि सभी खिलाड़ियों को एक बार फिर भारतीय प्रोटोकॉल से गुज़रना होगा। 

उन्होंने आगे कहा “जो भी चीनी खिलाड़ी इस प्रतियोगिता का हिस्सा होंगे उन्हें एहतियात के तौर पर से एक बार फिर गुज़रना होगा।” उन्होंने आगे बताया कि “यूनाइटेड वर्ल्ड रेसलिंग ने हमे चिठ्ठी के हवाले से लिखा है कि इस दौरान किसी भी खिलाड़ी को वीज़ा की समस्या नहीं होनी चाहिए और अगर हम किसी भी प्रतियोगिता की घोषणा करते हैं तो हमे हर मुल्क को भागीदारी लेने के लिए आश्वासन देना होगा।”  

2020 ओलंपिक गेम्स के लिए एशियन चैंपियनशिप एक मंच 

गौरतलब है कि एशियन चैंपियनशिप भारत के नई दिल्ली शहर में खेली जाएगी। यह प्रतियोगिता 18 से 23 फरवरी के बीच आयोजित की जाएगी। इस टूर्नामेंट में भारत के बजरंग पुनिया, विनेश फोगाट, अंशु मलिक, रवि दहिया और दीपक पुनिया से अच्छे प्रदर्शन की उम्मीद की जा सकती है। यह कहना गलत नहीं होगा कि इन नामों के साथ भारतीय कुश्ती का खेमा मज़बूत दिखाई दे रहा है। 

पिछले साल बजरंग पुनिया ने एशियन चैंपियनशिप के 65 किग्रा में लड़ते हुए गोल्ड मेडल हासिल किया था और इस बार वे उसे डिफेंड करते नज़र आएंगे। रोम में हुए माटेयो पेलिकोमेमोरियल में पुनिया ने शानदार प्रदर्शन करते हुए अपने नाम को अव्वल रख जीत हासिल की थी। ऐसे में उम्मीद अब इसी बात की हैं कि वे उसी लय को एशियन चैंपियनशिप में साथ लेकर उतरेंगे और भारत को गौरवाविंत करेंगे।

माटेयो पेलिकोन मेमोरियल  में भारत के पहलवान रवि दहिया ने 61 किग्रा वर्गभार में खेलते हुए गोल्ड मेडल अपने नाम किया था और वे भी अपनी फॉर्म को जारी रखने के इरादे से एशियन चैंपियनशिप में भाग लेंगे। रवि ने आईएएनएस से बात करते हुए बताया “2020 ओलंपिक गेम्स में मैं गोल्ड जीतने के मकसद से जाऊंगा और एशियन चैंपियनशिप मेरे लिए तैयारी का मंच बन कर मुझे मदद कर सकती है।

क्या आपको यह आर्टिकल पसंद आया? इसे अपने दोस्तों के साथ साझा करें!