भारतीय युवा सनसनी यश वर्धन ने IOSC इवेंट में ओलंपिक में जाने वाले शूटर को हराया

एशियन एयरगन चैंपियनशिप में भी तीन स्वर्ण पदक जीत शानदार प्रदर्शन कर चुके हैं वर्धन

लेखक Dinesh Chand Sharma ·

टोक्यो ओलंपिक में शूटिंग भारत के लिए सबसे मजबूत दावों में से एक होगी। भारतीय दल ने 2020 के ओलंपिक के लिए अनुशासन में शानदार 15 स्थान हासिल किए हैं।

भारतीय युवा निशानेबाज सौरभ चौधरी, राही सरनोबत और मनु भाकर को टोक्यो में शानदार तरीके से कदम बढाना होगा। इस बीच ओलंपिक में जाने को उत्सुक यश वर्धन अंतरराष्ट्रीय स्तर पर अपना नाम कमा रहे हैं।

जूनियर एशियाई चैंपियन यश वर्धन ने रविवार को ऑस्ट्रिया के ओलंपिक कोटा विजेता मार्टिन स्ट्रेम्पफ्ल को अंतर्राष्ट्रीय ऑनलाइन शूटिंग चैम्पियनशिप (IOSC) के छठे सत्र में 10 मीटर एयर राइफल स्पर्धा में हराकर स्वर्ण पदक पर कब्जा जमाया। हालांकि इस उपलब्धि के ज्यादा मायने नहीं है क्योंकि स्ट्रेम्पफ्ल वर्तमान में वर्ल्ड रैंकिंग में 34वें स्थान पर हैं।

15 साल की उम्र में यश वर्धन

17 वर्षीय वर्धन ने 251.9 अंक अर्जित कर स्ट्रेम्पफ्ले को 1.2 अंकों के अंतर से हराकर अपना पहला IOSC खिताब जीता। भारत के पूर्व निशानेबाज शिमोन शरीफ की ओर से आयोजित इस दो दिवसीय प्रतियोगिता में 20 देशों के निशानेबाजों ने शिरकत की।

यश ने पीटीआई को बताया कि “इस समय ऑनलाइन प्रतियोगिताओं का आयोजन होना बहुत उपयोगी है क्योंकि इससे न केवल मुझे अपना प्रदर्शन दिखाने का मौका मिला बल्कि एक बेहतर शूटर के रूप में विकसित होने में भी मदद मिली। मैं अपने प्रदर्शन और परिणाम से बहुत खुश हूं और इसे आगे भी जारी रखना चाहता हूं।"

यह किशोर युवाओं के बीच एक सनसनी है और वह अपनी प्रतिष्ठा को आगे भी इसी तरह से बनाये रखना चाहता है।

कुछ साल पहले वर्धन ने पुरुष जूनियर और युवा वर्ग की एयर राइफल में 629.2 अंकों के साथ शीर्ष स्थान हासिल किया तो वहीं नेशनल शूटिंग के चयन ट्रायल के फाइनल में पहुंचे शीर्ष तीन में जगह बनाई।

वर्धन ने पिछले साल एशियन एयरगन चैंपियनशिप में भी शानदार प्रदर्शन किया। इस स्पर्धा में भारत ने 25 पदक हासिल किए जिसमें से उन्होंने तीन स्वर्ण पदक अपने नाम किए।

वहां उन्होंने 10 मीटर एयर राइफल पुरुषों की जूनियर स्पर्धा में जीत हासिल की। इसके बाद केवल प्रजापति और ऐश्वर्या तोमर के साथ टीम प्रतियोगिता में कांस्य पदक हासिल किया। उन्होंने श्रेया अग्रवाल के साथ मिलकर मिक्स्ड टीम राइफल जूनियर इवेंट में भी जीत दर्ज की।

यश वर्धन की जीत और पदकों का ग्राफ लगातार बढ़ रहा है और इसे देखते हुए लग रहा है कि उनका भविष्य और बेहतर होगा।